भारतीय तटरक्षक (Indian Coast Guard) क्या होता है? तटरक्षक (Coast Guard) कैसे बनें?

By | May 24, 2021

भारतीय तटरक्षक (Indian Coast Guard) क्या होता है? तटरक्षक (Coast Guard) कैसे बनें? – आप सभी ने न्यूज़ में तटरक्षक (Coast Guard) का नाम तो सुना ही होगा। कई बार Coast Guard समुद्र में फंसे किसी नाविक की सहायता करते हैं या किसी भटके समुद्री यात्रियों की सहायता करते हैं और उन्हें सुरक्षित अपने घर पहुंचाते हैं। यह सब सुनकर हमारे मन में यह सवाल आता है कि भारतीय तटरक्षक (Indian Coast Guard) क्या होता है? बहुत सारे लोग आज के समय में Indian Coast Guard भी बनना चाहते हैं और जल मार्ग में सर्विस देना चाहते हैं। लेकिन उन्हें यह जानकारी नहीं होती है कि तटरक्षक (Coast Guard) कैसे बने? इसीलिए इस आर्टिकल में हम आपके दोनों सवालों का जवाब देने जा रहे हैं।

भारतीय तटरक्षक (Indian Coast Guard) क्या होता है?

भारतीय तटरक्षक (Indian Coast Guard) एक स्वतंत्र सशस्त्र बल है। Indian Coast Guard की स्थापना की स्थापना शांति काल में भारतीय समुद्रों की सुरक्षा करने के उद्देश्य से 18 अगस्त 1978 को की गई थी। इसकी स्थापना संसद द्वारा तटरक्षक अधिनियम, 1978 के अंतर्गत की गई थी। वर्तमान समय में भारतीय तटरक्षक के महानिदेशक (डायरेक्टर जनरल) कृष्णस्वामी नटराजन, अपर निदेशक वीडी चफेकर, तटरक्षक कमांडर (पश्चिमी समुद्री क्षेत्र) आर० बरगोत्रा और तटरक्षक कमांडर (पूर्वी समुद्री क्षेत्र) वीरेंद्र सिंह पथनिया हैं। भारतीय तटरक्षक (Indian Coast Guard) का मुख्यालय नई दिल्ली में है।

इस समय भारतीय तटरक्षक (Indian Coast Guard) विभाग में 5440 से भी अधिक Coast Guard काम कर रहे हैं। यह रक्षा मंत्रालय के अंतर्गत काम करता है। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि भारत में भारतीय तटरक्षक दिवस 01 फरवरी को मनाया जाता है। अब आपके दिमाग में यह प्रश्न आ रहा होगा कि जब भारतीय तटरक्षक (Indian Coast Guard) की स्थापना 18 अगस्त को हुई थी फिर 01 फरवरी को भारतीय तटरक्षक दिवस क्यों मनाया जाता है?

01 फरवरी को भारतीय तटरक्षक दिवस क्यों मनाया जाता है?

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि सितंबर 1974 में केएफ रुस्तमजी की अध्यक्षता में समुद्र में तस्करी जैसी समस्याओं से निपटने के लिए एक समिति का गठन किया गया था। इस समिति ने नौसेना की तर्ज पर रक्षा मंत्रालय के प्रशासनिक नियंत्रण में सामान्य तौर पर संचालित होने वाली एक तटरक्षक सेवा की शिफारिश की थी जो, शांति काल के दौरान समुद्र की सुरक्षा करें।

Read More – NEET क्या है? / NEET का मतलब क्या होता है

इस समिति की सिफारिश के अनुसार 25 अगस्त 1976 को समुद्री क्षेत्र अधिनियम पारित हुआ। इसके बाद मंत्रिमंडल द्वारा 01 फरवरी 1977 को अंतरिम Coast Guard संगठन का गठन किया गया। इसीलिए 01 फरवरी को भारतीय तटरक्षक दिवस मनाया जाता है। इसके बाद इसे एक स्वतंत्र सशस्त्र बल के रूप में संसद द्वारा तटरक्षक अधिनियम, 1978 के तहत औपचारिक रूप से उद्धाटन किया गया।

भारतीय तटरक्षक (Indian Coast Guard) का उद्देश्य क्या है?

  1. भारतीय तटरक्षक (Indian Coast Guard) का उद्देश्य समुद्री तटों पर पर्यावरण को प्रदूषित होने से बचाना और समुद्री तटों की सुरक्षा करना है।
  2. Indian Coast Guard का उद्देश्य समुद्र मार्ग में होने वाले तस्करी को रोकना है।
  3. इसका उद्देश्य समुद्र में मौजूद खनिज एवं अन्य संसाधनों की सुरक्षा करना है।
  4. Indian Coast Guard का उद्देश्य शांति काल में भारतीय समुद्री तटों की सुरक्षा एवं उसकी देखरेख करना है।
  5. समुद्र मार्ग में फंसे हुए नागरिकों एवं सामान नागरिकों की सुरक्षा ही इसका उद्देश्य है।
  6. Indian Coast Guard आवश्यकता पड़ने पर Indian नौसेना की भी सहायता करती है।

भारतीय तटरक्षक (Indian Coast Guard) कैसे बनें?

यदि आप भारतीय तटरक्षक (Indian Coast Guard) बनना चाहते हैं तो आपकी जानकारी के लिए बता दें कि Indian Coast Guard की ओर से हर साल कई भर्तियों के लिए आवेदन मांगे जाते हैं। यहां पर आप योग्यता के हिसाब से अलग-अलग पदों के लिए आवेदन कर सकते हैं और नौकरी प्राप्त कर सकते हैं।
Indian Coast Guard Rank Structure:

  1. डायरेक्टर जनरल
  2. एडीशनल डायरेक्टर जनरल
  3. इंस्पेक्टर जनरल
  4. डिप्टी इंस्पेक्टर जनरल
  5. कमांडेंट
  6. कमांडेंट (जूनियर ग्रेड)
  7. डिप्टी कमांडेंट
  8. असिस्टेंट कमांडेंट
  9. असिस्टेंट कमांडेंट (2 वर्षीय)

भारतीय तटरक्षक (Indian Coast Guard) में किन-किन रैंक पर होती हैं भर्तियाँ?

यांत्रिक (Technician)

  1. यांत्रिक
  2. उत्तम यांत्रिक
  3. प्रधान यांत्रिक
  4. सहायक इंजीनियर
  5. उत्तम सहायक इंजीनियर
  6. प्रधान सहायक इंजीनियर

नाविक (जनरल ड्यूटी)

  1. नाविक
  2. उत्तम नाविक
  3. प्रधान नाविक
  4. अधिकारी
  5. उत्तम अधिकारी
  6. प्रधान अधिकारी

नाविक (डोमेस्टिक ब्रांच)

  1. नाविक
  2. उत्तम नाविक
  3. प्रधान नाविक
  4. अधिकारी
  5. उत्तम अधिकारी
  6. प्रधान अधिकारी

भारतीय तटरक्षक ( Indian Coast Guard ) Eligibility

यदि आप भारतीय तटरक्षक (Indian Coast Guard) बनना चाहते हैं तो आपकी उम्र 18 से 27 वर्ष के बीच होना चाहिए। इसके अलावा इंटरमीडिएट में 50% अंक से उत्तीर्ण होना जरूरी है। हालांकि कुछ पदों के लिए दसवीं पास अभ्यर्थियों के लिए भी आवेदन लिए जाते हैं। आपकी हाइट कम से कम 157 सेंटीमीटर होनी चाहिए। इसके अलावा आपका चेस्ट 77 सेंटीमीटर और उसे फुलाने के बाद 82 सेंटीमीटर होना चाहिए। इसके अलावा अलग-अलग भर्तियों के लिए अलग-अलग योग्यताएं मांगी जाती है। इसके लिए आप किसी भी भर्ती का नोटिफिकेशन पढ़ सकते हैं।

भारतीय तटरक्षक (Indian Coast Guard) कैसे बनें?

भारतीय तटरक्षक (Indian Coast Guard) विभाग हर साल नाविक और यांत्रिक पदों पर भर्तियां निकालती है। आपसे Indian Coast Guard की ऑफिशियल वेबसाइट पर जाकर आवेदन कर सकते हैं। Indian Coast Guard द्वारा आयोजित कराई गई परीक्षाओं में अंग्रेजी, गणित रिजनिंग और सामान्य ज्ञान से संबंधित प्रश्न आते हैं। लिखित परीक्षा पास करने के बाद शारीरिक परीक्षा और मेडिकल टेस्ट होता है। शारीरिक परीक्षा और मेडिकल टेस्ट पास करने के बाद एक मेरिट बनती है यदि आप का नाम उस मेरिट लिस्ट में आता है तो आप भी भारतीय तटरक्षक (Indian Coast Guard) बन सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *