12वीं के बाद UPSC की तैयारी कैसे करें?

By | May 28, 2021

12वीं के बाद UPSC की तैयारी कैसे करें? – आज के समय में बहुत सारे छात्र देश की सबसे बड़ी नौकरी लेना चाहते हैं यानी IAS बनना चाहते हैं। लेकिन सभी का सपना पूरा नहीं हो पाता है। IAS बनने के लिए UPSC द्वारा सिविल सर्विसेज एग्जाम को क्वालीफाई करके मेरिट लिस्ट में आना होता है।

IAS बनने का सपना संजोए हर साल लाखों युवा कुछ सीटों के लिए इस परीक्षा की तैयारी करते हैं उनमें से कुछ सफलता प्राप्त करते हैं और कुछ असफल रह जाते हैं। इसके लिए अनुशासन के साथ पढ़ाई करने की जरूरत पड़ती है। इस आर्टिकल में हम आपको बताएंगे कि 12वीं के बाद UPSC की तैयारी कैसे करें?

12वीं के बाद UPSC की तैयारी कैसे करें?

रणनीति के साथ अध्ययन करें

किसी भी परीक्षा में सफलता पाने के लिए रणनीति के साथ अध्ययन करना बहुत ही जरूरी है। यदि आप UPSC की परीक्षा देना चाहते हैं तो इसके लिए 12वीं के बाद ही इसके बारे में निर्णय लेना पड़ेगा। इसीलिए ग्रेजुएशन के दौरान ही UPSC सिविल सेवा परीक्षा की तैयारी करना शुरू कर दें। सिविल सेवा परीक्षा की तैयारी करने के लिए कम से कम 2 से 3 साल तैयारी करना बहुत ही आवश्यक है।

ग्रेजुएशन के दौरान ही UPSC के सिलेबस के अनुसार सभी किताबें और जरूरी अध्ययन सामग्री खरीद कर रख लें और रणनीति बनाकर उसका अध्ययन शुरू कर दें। UPSC मुख्य परीक्षा के लिए किसी एक विषय के बारे में अच्छी जानकारी होना आवश्यक है जिसे आप वैकल्पिक विषय के तौर पर चुनते हैं। इसीलिए ग्रेजुएशन के दौरान किसी एक विषय में महारत हासिल कर लें ताकि उससे संबंधित किसी भी प्रश्न का आप तत्काल उत्तर लिख पाएँ।

करंट अफेयर्स और समसामयिक मुद्दों पर ध्यान दें

UPSC के परीक्षा में करंट अफेयर्स और समसामयिक मुद्दों से प्रश्न अधिक मात्रा में आते हैं इसीलिए आपको इसकी तैयारी करना बहुत ही जरूरी है। करंट अफेयर्स की तैयारी के लिए आप द हिंदू, इंडियन एक्सप्रेस, बीबीसी एवं डीडी न्यूज़ का बुलेटिन देख सकते हैं। इसके साथ ही साथ करंट अफेयर्स का नोट तैयार करें। इसके अलावा मार्केट में बहुत सारे समसामयिक मुद्दों पर किताबें मिलती हैं जिन्हें आप खरीद कर उन्हें पढ़ सकते हैं।

विषयों का चयन करते समय ध्यान रखना जरूरी

UPSC की तैयारी के लिए विषयों का चयन करते समय ध्यान रखना बहुत जरूरी है। आप उन्हीं विषयों का चयन करें जिसमें आपको गहरी रुचि है तभी आप उसे अच्छी तरह से पढ़ पाएंगे और UPSC की परीक्षा में सफलता प्राप्त कर पाएंगे। सिविल सेवा परीक्षा का सिलेबस काफी बड़ा होता है इसे पूरा तैयार करने में काफी समय लगता है ऐसे में यदि आप अपने मनपसंद विषय का चयन करेंगे तो इसे पढ़ने में मन भी लगेगा और साथ ही साथ आप इसे अच्छी तरह से तैयार भी कर सकेंगे।

UPSC की तैयारी के लिए एकाग्रता है जरूरी

यदि आप UPSC की सिविल सेवा परीक्षा की तैयारी कर रहे हैं तो इसके लिए पढ़ाई में एकाग्रता होना बहुत ही जरूरी है। UPSC के परीक्षा पास करने के लिए किसी भी टॉपिक या विषय को रखना जरूरी नहीं है क्योंकि यह कुछ दिनों बाद दिमाग से उतर जाता है। इसीलिए आपको सभी टॉपिक को एक आक्रमण से पढ़ना एवं समझना बहुत ही जरूरी है।

यदि आप नियमित अध्ययन करते हैं तो सिविल सेवा परीक्षा में जल्द ही सफलता प्राप्त कर सकते हैं। इन ग्रेजुएशन के दौरान अपनी पढ़ाई के अलावा UPSC की तैयारी के लिए भी समय निकालें और टाइम टेबल बनाकर पढ़ाई करें। टाइम टेबल बनाने से आप सभी विषयों को अच्छी तरह से समय दे पाते हैं जिसका फायदा UPSC की परीक्षा में मिलता है।

नकारात्मक सोच वाले लोगों से दूरी बनाकर रखें

आज के समय में बहुत सारे लोगों की सोच नकारात्मक होती है। यदि आप उनसे UPSC के सिविल सेवा परीक्षा की तैयारी के बारे में बात करेंगे तो वह इसके बारे में नकारात्मक बातें करेंगे। कुछ लोग सिविल सेवा परीक्षा को इतना बड़ा बता देते हैं कि इससे आपका मनोबल नीचे गिर जाता है। इसीलिए ऐसे लोगों से दूरी बनाकर रखें और हमेशा सकारात्मक सोच वाले लोगों के साथ रहे। इसके अलावा UPSC सिविल सेवा परीक्षा में पास हो चुके लोगों से विचार विमर्श करें और उनसे पढ़ाई की रणनीति के बारे में चर्चा करें।

दिल्ली जाना जरूरी नहीं

आजकल बहुत सारे लोगों की यह सोच बन गई है कि UPSC सिविल सेवा परीक्षा की तैयारी करने के लिए दिल्ली जाकर कोचिंग करना जरूरी है। जबकि ऐसा नहीं है यदि आप अपने घर पर भी रह कर सभी अध्ययन सामग्री जुटा कर और टाइम टेबल बनाकर रणनीति के अनुसार अध्ययन करते हैं तो इसके लिए आपको किसी भी कोचिंग जाने की जरूरत नहीं है। यदि आप मन लगाकर अध्ययन करते हैं तो जल्द ही सिविल सेवा परीक्षा पास कर सकते हैं।

लिखने का अभ्यास करना भी है जरूरी

UPSC सिविल सेवा परीक्षा में प्रारंभिक परीक्षा वैकल्पिक होती है लेकिन मुख्य परीक्षा लिखित होती है ऐसे में आपको पढ़ाई के साथ-साथ लिखने का भी पर्याप्त अभ्यास करना जरूरी है। मुख्य परीक्षा के दौरान आपको सभी उत्तर लिखित हल करने होते हैं और साथ ही साथ निबंध लिखना भी जरूरी होता है। ऐसे में आप प्रतिदिन लगभग एक निबंध लिखने का अभ्यास करें ताकि मुख्य परीक्षा के दौरान कोई दिक्कत ना हो सके। निबंध लिखते समय व्याकरण की अशुद्धियां बिल्कुल ना करें। यदि आप लिखने का अभ्यास करेंगे तो यह कमियां खुद-ब-खुद दूर होती चली जाएंगी।

रोजाना कम से कम 6 घंटे पढ़ना जरूरी

यदि आप 12वीं के बाद UPSC सिविल सेवा परीक्षा की तैयारी करने की सोच रहे हैं तो इसके लिए आपको ग्रेजुएशन की पढ़ाई के दौरान ही कम से कम 6 घंटे रोजाना पढ़ाई करना जरूरी है। इस 6 घंटे में आप अलग-अलग विषयों के लिए अलग-अलग समय सारणी बनाएं और सिलेबस के अनुसार पढ़ाई करें पुलिस स्टाफ सिलेबस के अनुसार पढ़ाई करने से किसी अन्य टॉपिक के बारे में पढ़ने की आवश्यकता नहीं पड़ती है। इसीलिए आपको पढ़ने में बहुत अधिक भार भी नहीं लगता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *